MENU

About Astikjagat.com


Ip Domain: 89.116.133.13 - India
Last Scan : 2024-07-05 13:07:11

Scroll to top

निर्जला एकादशी व्रतकथा एवं माहात्म्य ~ भीमसेन भगवान वेदव्यास जी से बोले- परम बुद्धिमान् पितामह ! मेरी उत्तम बात सुनिये। राजा युधिष्ठिर, माता कुन्ती, द्रौपदी, अर्जुन, नकुल और सहदेव-ये एकादशी को कभी भोजन नहीं करते तथा मुझसे भी हमेशा यही कहते हैं कि ‘भीमसेन ! तुम भी एकादशीको न खाया करो।’ किन्तु मैं इन लोगों…

Keywords Suggestions : (By Asapurls)
There is no suggestion for keywords
Url Keywords:
scroll, top,astikjagatcom, , , , , ,


Likes 0 Dislikes



Post Comment


Comments (0)


page 01

Contact